रेनबो में दिव्यांग बच्चों ने बि‍खेरे इंद्रधनुषी रंग

kothari-international-school

नोएडा : कोठारी इंटरनेशनल स्कूल में दिव्यांग बच्चों को प्रोत्साहित करने व मुख्यधारा के विद्यालयों में दिव्यांग बच्चों की भागीदारी को बढ़ाने के लिए दो दिवसीय कार्यक्रम रेनबो-2016 का आयोजन किया गया। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य दिव्यांग बच्चों को ऐसा मंच उपलब्ध कराना था, जहाँ वे अपने कौशल का प्रदर्शन कर सकें। इस कार्यक्रम में पहले दिन 8 दिसंबर को एकल गीत, ड्राइंग कलरिंग, कोलाज मेकिंग तथा पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इन प्रतियोगिताओं में दिल्ली-एनसीआर के 15 विद्यालयों के 67 बच्चों ने भागीदारी की। बच्चों ने अपने सुरों से एक नए इन्द्रधनुष की रचना कर दी।

चार घंटे चले इस कार्यक्रम में साक्षी एनजीओ की प्रबंधक-संस्थापक समाज सेविका डॉक्टर मृदुला टंडन तथा रोड सेफ्टी इमरजेंसी के प्रबंधक, मीडियाकर्मी व चर्चित शायर सुबोध लाल ने अपनी उपस्तिथि से बच्चों का मनोबल बढ़ाया।

कार्यक्रम में निर्णायक की भूमिका के लिए वरिष्ठ रंगकर्मी, चित्रकार व मूर्तिकार पंकज मोहन अग्रवाल तथा युवा चित्रकार सहर रज़ा को आमंत्रि‍त किया गया।  गीत प्रतियिगिता में निर्णायक की भूमिका ख्यातिलब्ध ग़ज़ल गायक उस्ताद शकील अहमद खान तथा सितार वादक व ग़ज़ल गायक अकील अहमद ने निभाई। बच्चों की बनायीं कलाकृतियां देख सहर बरबस ही कह पड़ीं कि‍ यदि ऐसा विद्यालय उन्हें मिले तो वे दोबारा छात्र जीवन में लौटने को तैयार हैं।

बच्चों के सुरों से शकील साहब इतना प्रभावित हुए कि‍ बजाय सम्मान लेने के वे बच्चों से सीधा मुखातिब हुए और कहा कि‍ जो भी मंच की चौखट पर चढ़ गया, वो हर बच्चा विजेता है।

कार्यक्रम का समापन पुरस्कार वितरण से किया गया। ड्राइंग-कलरिंग में रयान इंटरनेशनल स्कूल नोएडा, बाल भारती स्कूल नोएडा, सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल को क्रमशः पहला, दूसरा और तीसरा स्थान मिला।  कोलाज मेकिंग में रयान इंटरनेशनल स्कूल नोएडा, डीएलफ स्कूल नोएडा तथा खेतान स्कूल नोएडा को क्रमशः पहला, दूसरा और तीसरा स्थान मि‍ला।

पेंटिंग में रयान इंटरनेशनल स्कूल नोएडा, कैम्ब्रिज स्कूल साहिबाबाद, खेतान स्कूल नोएडा को  क्रमशः  पहला,  दूसरा व तीसरा स्थान मि‍ला।

मन के गीत में रयान इंटरनेशनल स्कूल नोएडा, डीपीएस आरकेपुरम, डीएलएफ़ साहिबाबाद को क्रमशः पहला, दूसरा तथा तीसरा स्थान प्राप्त हुआ।

कार्यक्रम में विद्यालय की प्रधानाध्यापिका मंजू गुप्ता, उपप्रधानाचार्य जसवीर चौधरी,  हेडमिस्ट्रेस नीरजा चैथले तथा समन्वयक रुचि बिष्ट ने निर्णायकमंडल व अतिथियों को सम्मानित किया।

धन्यवाद ज्ञापन में प्रधानाध्यापिका मंजू गुप्ता ने इस कार्यक्रम को नियमित रूप से प्रतिवर्ष मनाने की योजना को साझा किया।

कार्यक्रम के दूसरे दिन विशेष शिक्षा से जुड़े पेशेवरों को एक मंच पर लाकर उनके द्वारा व्यवहार में लायी जा रही सर्वोत्तम विधियों तथा प्रक्रियाओं पर चर्चा की गई। दूसरे दिन की सेमीनार में 17 पेशेवरों ने भागीदारी की और आने वाली संभावनाओं और चुनौतियों पर चर्चा की।  सेमीनार में अमर ज्योति स्कूल की प्रधानाध्यापिका सम्मा तुली तथा प्रकृति स्कूल की संस्थापिका प्रियंका भाबू भी उपस्तिथि रहीं। सेमीनार  की अध्यक्षता जाने-माने बाल मनोचिकित्‍सक डॉक्टर नागपाल ने की। प्रधानाध्यापिका ने अंत में घोषणा की कि‍ प्रत्येक वर्ष 9 दिसम्बर को इसी तरह सेमीनार का आयोजन किया जाएगा।

kothari-international-school

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *